ChhattisgarhRaipurState
Trending

मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के माध्यम से हर्बल केन्द्र स्थापित…..

10 / 100

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रयासों से मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के माध्यम से न केवल रोजगार के अवसर खुले हैं, बल्कि युवा पीढ़ी व्यवसाय शुरू करने के लिए भी सशक्त हुई है। युवा इस योजना का लाभ उठायें और अपनी लगन एवं इच्छा के अनुरूप व्यवसाय कर सामाजिक एवं आर्थिक गतिविधियों को बढ़ायें। इस कार्यक्रम के तहत सरकार द्वारा रियायती दर पर ऋण उपलब्ध कराया जाता है। इसी क्रम में महासमुंद जिले के बागबाहरा विकासखंड के ग्राम खेमदा निवासी नोहर चक्रधारी ने 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद हर्बल मार्केटिंग सीखी। उनके मन में अपनी खुद की जड़ी-बूटी की दुकान खोलने की इच्छा थी, लेकिन वह इतने सक्षम नहीं थे कि दुकान खोल सकें।

नोहर चक्रधारी ने कहा कि एक दिन मैं बहुत गुस्से में था और लोन की जानकारी देने बैंक गया. वहीं, बैंक प्रबंधक ने बताया कि छत्तीसगढ़ ग्रामोद्योग के माध्यम से मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 35 प्रतिशत अनुदान पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है. इसलिए उन्होंने भी विभाग के अधिकारी से संपर्क किया और नियमानुसार अपना लोन केस फॉर्म भरकर विभाग में जमा कर दिया। विभाग ने अनुरोध बैंक को भेज दिया। शाखा प्रबंधक की जांच के बाद दो करोड़ का लोन स्वीकृत हुआ, जिससे नोहर चक्रधारी ने अपनी जड़ी-बूटी की दुकान खोली.

Related Articles

नोहर का कहना है कि मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम आत्मनिर्भर बनाने में मील का पत्थर साबित हुआ है। 2022 से हर्बल बिजनेस शुरू कर मैं आत्मनिर्भर और आर्थिक रूप से मजबूत भी हो गई। मैं हर्बल सेंटर से 15 से 20 हजार रुपये कमाता हूं और बैंक की नियमित किश्तें भरता हूं। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरी अपनी जड़ी-बूटी की दुकान होगी। आज वह सपना सच हो गया और मेरे लिए आगे का रास्ता खुल गया। मैं और मेरा परिवार अब खुश हैं और मैं यहां तक पहुंचने में मदद करने और मुझे नई राह देने के लिए मंत्री को धन्यवाद देता हूं।

jeet

Show More

Related Articles

Back to top button