ChhattisgarhRaipurState
Trending

157 करोड़ 13 लाख रुपये के विभिन्न विकास एवं निर्माण कार्यों का किया लोकार्पण एवं भूमिपूजन……

12 / 100

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज यहां बेमेतरा जिले के विकासखण्ड साजा के ग्राम मौहाभाठा में कुमारी देवी चौबे कृषि महाविद्यालय के नवनिर्मित भवन और बालक-बालिका छात्रावास का लोकार्पण किया। उन्होंने इस मौके पर स्वर्गीय श्रीमती कुमारी देवी चौबे के प्रतिमा का अनावरण भी किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री बघेल ने जिले के 157 करोड 13 लाख रुपये के विभिन्न विकास एवं निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन भी किया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने साजा के हार्टिकल्चर कॉलेज में वेजिटेबल साइंस, फ्रूट साइंस की पीजी क्लास प्रारंभ करने और कृषि में एंटोंमोलॉजी एवं एग्रोनोमी की पीजी कक्षा संचालित करने की घोषणा की। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, संसदीय सचिव व विधायक श्री गुरुदयाल सिंह बंजारे, विधायक बेमेतरा श्री आशीष छाबड़ा, कुलपति इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय डॉ. गिरीश चंदेल उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कृषक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि बीते साढ़े चार साल में छत्तीसगढ़ में किसानों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं संचालित की गई है। इन योजनाओं से किसानों के जेब में पैसा पहुंच रहा है। किसानों की कर्ज माफी से लेकर राजीव गांधी किसान न्याय योजना से भी हितग्राही लाभांवित हो रहे हैं। गोधन न्याय योजना के बारे में बात करते हुए कहा कि अब गौठानों में रीपा स्थापित होने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोजगार के और अवसर मिले हैं। रीपा की तर्ज पर नगरीय निकायों में महात्मा गांधी अर्बन इंडस्ट्रियल पार्क का निर्माण भी किया जा रहा है। रीपा में उत्पादित सामग्री स्थानीय बाजार के साथ-साथ सी-मार्ट जरिए भी विक्रय हो रही है।

Related Articles


मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से धान के साथ ही अन्य खाद्यान्न, उद्यानिकी वृक्षारोपण आदि के लिए नगद राशि भी किसानों के खाते में पहुंची है। सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर कोदो कुटकी और रागी की खरीदी की जा रही है। उन्होने कहा कि पहली बार प्रदेश में 94 हजार क्विंटल मिलेट फसलों का उपार्जन किया गया है। गोबर खरीदी से पशुपालकों और चरवाहों की आर्थिक स्थिति भी मजबूत हुई है। कोई सोंच भी नहीं सकता था कि गोबर के विक्रय से लोग अपनी आर्थिक स्थिति बेहतर कर सकेंगे, लेकिन छत्तीसगढ़ में यह संभव हुआ है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि हमारे पूरखों ने जो सपना देखा वो आज साकार हो रहा है। राज्य सरकार की योजनाओं से लोगों के जीवन में परिवर्तन आ रहा है और वे आर्थिक रुप से मजबूत हो रहे हैं।  


कृषि मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के सभी क्षेत्रों का दौरा किया है, उनके इन्ही दीर्घ अनुभव का परिणाम है कि आज छत्तीसगढ़ के वातावरण परिस्थिति के अनुरुप कृषि और उद्यानिकी महाविद्यालय संचालित हो रहे हैं। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल स्वयं कृषक हैं और उन्होंने इस क्षेत्र में विकास के लिए लगातार कार्य किए हैं जिससे कृषि के क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन हुआ है।


पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल किसानों के विकास के लिए समर्पित हैं। उन्होने बजट के लगभग एक तिहाई से अधिक 01 लाख 75 हजार करोड़ रुपये की राशि किसानों के खाते में डाली है। इस वर्ष 107  लाख मीट्रिकटन धान की खरीदी की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जो कहते हैं वो करते हैं। इसी का परिणाम है कि प्रदेश में अनेक योजनाओं का लाभ किसानों और नागरिकों को मिल रहा है। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा, पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती लीना मण्डावी, अपर कलेक्टर डॉ. अनिल बाजपेयी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री पंकज पटेल, अनुविभागीय अधिकारी (रा.) साजा विश्वास राव मस्के सहित अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button