ChhattisgarhState
Trending

नक्सली आतंक : रेलवे ने दंतेवाड़ा से किरंदुल के बीच पैसेंजर ट्रेनों पर 12 मई तक रोक….

9 / 100

छत्तीसगढ़ के बस्तर में नक्सली खतरे के चलते दो पैसेंजर ट्रेनों को 12 मई तक रोक दिया गया है. बस्तर संभाग में नक्सली टीसीओसी सप्ताह मना रहे हैं. इस वजह से किरंदुल विशाखापत्तनम पैसेंजर ट्रेन और नाइट एक्सप्रेस दोनों के पहिए थम गए हैं, ये दोनों ट्रेनें 12 मई तक रद्द रहेंगी. ये दोनों ट्रेनें दंतेवाड़ा से आगे किरंदुल नहीं जाएंगी, हालांकि लौह अयस्क ले जाने वाली मालगाड़ियों की आवाजाही 12 मई तक रद्द रहेगी. किरंदुल से विशाखापत्तनम तक चलेगी।
ECO (ईस्ट कोस्ट) रेलवे बोर्ड ने यात्री ट्रेनों को बंद करने के संबंध में एक आदेश जारी किया है। रेलवे ने नक्सल आतंक के चलते यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद करने का फैसला किया है.

सीजी ट्रेन रद्द दरअसल, नक्सल आतंक के चलते रेलवे ने यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद करने का फैसला किया है. एक दिन पहले दंतेवाड़ा-किरंदुल के बीच एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई थी। रेलवे को शक है कि यह नक्सलियों की करतूत है। नक्सलियों का टीसीओसी भी चल रहा है। इसके तहत रेलवे अधिकारियों को आशंका है कि नक्सली यात्री ट्रेनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए दंतेवाड़ा से किरंदुल के बीच पैसेंजर ट्रेनों के संचालन पर रोक लगा दी गई है. ईको रेलवे के मंडल वाणिज्य प्रबंधक एके त्रिपाठी ने आदेश जारी किया है.

Related Articles

सीजी ट्रेन रद्द किरंदुल-विशाखापत्तनम रेल मार्ग हमेशा से नक्सलियों के निशाने पर रहा है। पिछले कुछ सालों के आंकड़ों की मानें तो दंतेवाड़ा जिले के बसनपुर-झिरका जंगल में माओवादियों ने ज्यादातर रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाया है. साल 2021 में नक्सलियों ने एक पैसेंजर ट्रेन की पटरी उखाड़ कर पटरी से उतार दी थी. हालांकि ट्रेन की रफ्तार कम थी इसलिए ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। इसके अलावा लौह अयस्क ले जा रही कई मालगाड़ियों को भी नक्सलियों ने पटरी से उतार दिया है.

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button