ChhattisgarhRaipurState
Trending

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने मल्टी एक्टिविटी से 7 लाख कमाए….

15 / 100

किसी भी कार्य को सफलतापूर्वक करने के लिए कड़ी मेहनत, ईमानदारी और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता होती है। इसी कड़ी में जिले के पाटन विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत खोपली की सुश्री द्रौपदी काकड़े यू-ट्यूब पर बर्तन बनाने का तरीका देखकर अपना व्यवसाय चला रही हैं. वर्तमान में सुश्री द्रौपदी काकड़े असिता स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष हैं और अपने साथ 10 अन्य महिलाओं को प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध कराती हैं।

असिता स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष सुश्री काकड़े ने कहा कि वह विदेश व्यापार मजदूर के रूप में काम करती थी जिसके कारण उनके परिवार का गुजारा नहीं चल पाता था। अच्छी नौकरी के बारे में सोचकर उन्होंने यूट्यूब के जरिए सीमेंट के बर्तन बनाना सीखा और स्वयं सहायता समूहों में महिलाओं को प्रशिक्षण भी दिया। मांग के आधार पर समूह की महिलाएं सीमेंट के 600 बर्तन बनाती हैं जिन्हें बिक्री के लिए राजनांदगांव भेजा जाता है। समूह की महिलाएं मटके के साथ तुलसी चौरा और मिट्टी का फव्वारा भी तैयार करती हैं। जलप्रपात बनाकर उन्होंने करीब दस लाख का मुनाफा कमाया।

Related Articles

असिता स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से कवरिंग ब्लॉक, पेविंग ब्लॉक, प्लांटिंग पोल और क्लैडिंग पोल भी तैयार किए जा रहे हैं, जिससे उन्हें काफी लाभ हुआ है। वर्तमान में कवर ब्लॉक बनाकर 50 हजार रुपए की आय अर्जित की है। साथ ही तालाब में मछली उत्पादन का कार्य भी किया जाता है। मत्स्य विभाग के अधिकारियों के मार्गदर्शन में और सरकारी योजना का उपयोग करते हुए मछली की बिक्री से लगभग दस लाख की मात्रा प्राप्त हुई। समूह की महिलाएं अब तक मल्टी टास्किंग कर 7 करोड़ रुपए कमा चुकी हैं।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button