Madhya PradeshState
Trending

मुख्यमंत्री श्री चौहान का बड़ा बयान समय पर काम पूरा नहीं तो एजेंसी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाये…..

5 / 100

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा घाटी विकास विभाग के अन्तर्गत निर्माणाधीन सिंचाई परियोजनाओं का कार्य शीघ्र पूर्ण कर उनके उद्घाटन की तैयारी की जाये. कार्य की गुणवत्ता एवं समय सीमा का विशेष ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने परियोजना का बुद्धिमानी से अनुसंधान कर जानकारी प्राप्त की। उनके अनुसार परियोजनाओं के पूरा होने में देरी नहीं होनी चाहिए। समय पर काम पूरा नहीं करने वाली निर्माण एजेंसियों को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा। निर्माण एजेंसियों को जल्द काम करने के निर्देश दिए जाएं। परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए मिलकर काम करें। ये महत्वपूर्ण राज्य परियोजनाएं हैं जो लोगों के जीवन और कल्याण से संबंधित हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रालय में नर्मदा घाटी विकास विभाग की सिंचाई परियोजनाओं की समीक्षा की. नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री श्री भरत सिंह कुशवाहा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव जल संसाधन एवं एनवीडीए के उपाध्यक्ष श्री एस.एन. मिश्रा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। अलग-अलग जिलों के कलेक्टर वर्चुअली जुड़े हुए थे।

मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बदनावर सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना को पूर्ण करने के लिये गम्भीर प्रयास किये जायें। उन्होंने प्रोजेक्ट के काम में हो रही देरी पर नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संतोष व्यक्त किया कि सेवर माइक्रो उद्वहन सिंचाई परियोजना का कार्य समय पर चल रहा है. नर्मदा-क्षिप्रा बहुउद्देश्यीय परियोजना का उद्घाटन जून में होने की उम्मीद है। परियोजनाओं को लेकर कलेक्टर खरगोन व देवास से भी चर्चा की। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि इंदिरा सागर परियोजना के प्रथम चरण कालीसिंध सूक्ष्म उद्वहन परियोजना का कार्य 25 सितम्बर तक पूर्ण कर लिया जाए। कुक्षी सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना एवं पति सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना का कार्य शीघ्र पूर्ण करें। नागल वाडी लिफ्ट की लगभग पूरी हो चुकी सूक्ष्म सिंचाई परियोजना का परीक्षण किया जाए।

निर्माण कार्य में तीन साल की देरी पर नाराजगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालकवाड़ा सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई योजना (फेज-1) के कार्य में तीन वर्ष की देरी पर नाराजगी व्यक्त की. उन्होंने निर्माण एजेंसी कल्पतरु पावर ट्रांसमिशन लिमिटेड को 30 जून तक काम पूरा करने का निर्देश दिया। यदि निर्धारित अवधि में काम पूरा नहीं किया जाता है तो काम को ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिपरी सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना, बिस्तान सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना तथा भीकनगांव बिंजलवाडा सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना का कार्य शीघ्र पूरा किया जाए. हर हाल में इन परियोजनाओं पर काम जून 2023 तक पूरा हो जाना चाहिए।

छीपानेर माइक्रोलिफ्ट सिंचाई परियोजना के काम में किसी भी तरह की देरी नहीं होनी चाहिए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जवार सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना, खालवा उद्वहन सिंचाई परियोजना के कार्य में किसी प्रकार की देरी नहीं होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि वे छीपानेर सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजना का काम देखने भी गए थे. इस प्रोजेक्ट पर काम करने में देरी नहीं होनी चाहिए। निर्माण एजेंसी के निदेशक शापूर जी पल्लोन जी-पीसी-एपीएल (जेवी) मुंबई ने कहा कि अगर काम जल्दी नहीं किया गया तो ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की जाएगी। नर्मदापुरम और छिंदवाड़ा जिले में दूधी परियोजना का कार्य समय पर चल रहा है। इसी प्रकार शुगर स्क्रू लिंक ज्वाइंट प्रोजेक्ट का कार्य प्रगति पर है। सीहोर जिले में घाट व तटीय सुरक्षा का निर्माण जून तक पूरा होने की उम्मीद है।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button