ChhattisgarhRaipurState
Trending

गौठानों से ग्रामीण अर्थव्यवस्था समृद्ध, महिला सशक्त आर्थिक दृष्टिकोण को सक्षम करते हुए ग्रामीण अर्थव्यवस्था को समृद्ध कर रहा…..

10 / 100

खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले के कोडका गांव (ग्राम पंचायत गोपालपुर) में कोडका गांव (ग्राम पंचायत गोपालपुर) महिला स्वयं सहायता समूहों के आर्थिक दृष्टिकोण को सक्षम करते हुए ग्रामीण अर्थव्यवस्था को समृद्ध कर रहा है।

  गौठान का निर्माण महात्मा गांधी नरेगा योजना के 03 वर्ष पूर्व कोडका गांव से हुआ था। यहां कार्यरत राधा-कृष्ण स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने अब तक कुल 791.90 क्विंटल वर्मीकम्पोस्ट और 165 क्विंटल सुपरकंपोस्ट वर्मी टांकों में तैयार किया है. अब तक उन्होंने समूह को खाद की बिक्री से 7 लाख 79 हजार रुपये की आय अर्जित की है। महिलाएं यहां केंचुए भी पैदा करती हैं। पिछले छह महीनों में महिलाओं ने 24 प्रतिशत केंचुए बेचकर 4,00,000 रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है।


गोठान में लगे सामुदायिक उद्यान से महिलाओं ने पिछले दो माह में एक लाख रुपये की आय अर्जित की है। यहां आलू, प्याज, हल्दी, टमाटर और अन्य सब्जियां उगाई जाती हैं। वर्तमान में गौठान भूमि में छुईखदान कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र के प्रबंधन में नर्सरी स्कूल तैयार किया जा रहा है, जिसके लिए 4 लाख रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी है. इससे यहां 40 हजार पौधे तैयार हो जाएंगे।

Related Articles

राधा स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष श्रीमती मीना साहू का कहना है कि घर के काम के अलावा गौठान में जैविक खाद उत्पादन, सामुदायिक उद्यान में सब्जी उत्पादन, मिनी राइस मिल का संचालन और नर्सरी में पौधों की देखभाल भी की जाती है. यिप्पी। गौठानों में संचालित इन आर्थिक गतिविधियों से महिलाओं को नियमित आमदनी होती है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button