Madhya Pradesh
Trending

स्वास्थ्य विभाग सहित चार विभागों में हुई 1329 नियुक्तियां….

10 / 100

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण, ऊर्जा विभाग, पशुपालन एवं डेयरी विभाग तथा कृषि विभाग के 1,329 नवनियुक्त अधिकारियों, कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौंपे ।

आज यहां रविन्द्र भवन सभागम में नियुक्त‍ि पत्र सौंपने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वास्थ्य विभाग में 925 चिकित्सकों को डिजिटल नियुक्ति पत्र प्रदान किए। ऊर्जा विभाग में 302, पशुपालन एवं डेयरी विकास विभाग में 55 और कृषि विभाग में 47 नियुक्ति पत्र सौंपे। अब तक कुल 96 हजार 774 पदों पर भर्ती की कार्रवाई की गई है और 48 हजार 23। पदों के नियुक्ति पत्र जारी किए जा चुके है।

Related Articles

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सौंपे गए दायित्वों को आनंदपूर्वक निभाना चाहिए। राष्ट्र निर्माण का विचार मन में होना चाहिए। यह विचार होना चाहिए कि नागरिकों की जिंदगी बनाने का दायित्व पूरा कर रहे हैं। हमारा जीवन अर्थपूर्ण होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जब जनहित के कार्य करने की तड़प होती है तो शरीर में भी वैसे सकारात्मक भाव और रसायन पैदा होने लगते हैं। बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। तनाव मुक्त होकर अपनी जिम्मेदारियां को पूरा करना ही बेहतर है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज स्वास्थ्य, कृषि पशुपालन एवं डेयरी और कृषि विभागों में नई नियुक्तियों के पत्र अधिकारियों कर्मचारियों को दिए जा रहे हैं। प्रदेश के नागरिकों की बेहतर सेवा के लिए सभी को परिश्रम पूर्वक कार्य करना है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पहला सुख निरोगी काया है। सभी धर्म के पालन का माध्यम शरीर ही है। इसलिए प्रदेश में स्वास्थ्य क्षेत्र को समृद्ध और सुविधा युक्त बनाया गया है। चिकित्सा सेवा सिर्फ नौकरी नहीं बल्कि एक महत्वपूर्ण दायित्व है प्रत्येक रोगी को स्वस्थ करने का और इस कार्य दायित्व से जुड़े लोगों के आचरण एवं व्यवहार का अच्छा होना भी आवश्यक है। स्नेह में बड़ी ताकत होती है।

प्रदेश में सिंचाई का रकबा 7 लाख से बढ़कर 47 लाख हेक्टेयर हुआ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कृषि क्षेत्र की समृद्धि की चर्चा करते हुए कहा कि बीते दिनों अनेक सप्ताह कम वर्षा के पश्चात उन्होंने भगवान महाकाल की शरण में जाकर वर्षा के लिए प्रार्थना की थी। प्रदेश में अच्छी फसले होगी तो इससे संपूर्ण अर्थव्यवस्था का चक्र सही तरीके से चलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश की कृषि विकास दर में वृद्धि होती रही है। वर्ष 2003 और 2004 में जहां मात्र 159 लाख मी. टन उत्पादन होता था, अब यह 619 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा हो गया है। प्रदेश का बजट जो वर्ष 2003-2004 में मात्र 23,000 करोड़ था अब 3 लाख 14,000 करोड़ से अधिक हो गया है। जीएसडीपी भी 71,000 से बढ़कर 15 लाख करोड़ हो गई है। इन सब उपलब्धियां के कारण जहां लाडली बहनाओं को आर्थिक सहायता देना संभव हुआ है वहीं विद्यार्थियों को स्कूटी सहित अनेक सुविधाएं दी जा रही हैं। प्रदेश का सिंचाई का रकबा 7 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 47 लाख हेक्टेयर हुआ है और निरंतर बढ़ रहा है। प्रदेश में ओंकारेश्वर में बांध की सतह पर सोलर पैनल लगाकर ऊर्जा उत्पादन की पहल की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कृषि विभाग में कार्य कर रहे अमले पर प्रदेश की प्रगति का भी दायित्व है क्योंकि प्रदेश की प्रगति का आधार कृषि है। अच्छे उत्पादन के फल स्वरुप संपूर्ण अर्थव्यवस्था लाभान्वित होती है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में पशुपालन एवं डेयरी विकास और ऊर्जा विभाग में भी नवनियुक्त अधिकारियों कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं। इन दोनों ही विभागों का विशेष महत्व है। प्रदेश में विद्युत प्रदाय सामान्य रखने सहित बिजली की बचत के संबंध में नागरिकों को जागरूक करने के लिए ऊर्जा विभाग के अधिकारी कर्मचारी सक्रिय रहते हैं। पशुपालन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी पशुओं के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी को निभाते हैं। प्रदेश में इस क्षेत्र में भी अच्छा कार्य हो रहा है। मनुष्यों के साथ ही पशु पक्षियों की चिंता हमारी संस्कृति में की जाती रही है। सभी प्राणियों में एक ही चेतना व्याप्त है। नदियां हमारी मां होती हैं, जहां संस्कृतियों पनपती हैं। वृक्ष हमें जिंदगी देते हैं। पशु पक्षियों का महत्व कम नहीं है। वे प्रकृति का संतुलन बनाते हैं। हमारी संस्कृति का भाव यह है कि इस पृथ्वी पर सभी का महत्व है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन किया और एकीकृत सर्विलांस प्रणाली की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वास्थ्य विभाग के कुछ चिकित्सकों को प्रतीक स्वरूप नियुक्ति पत्र प्रदान किये इनमें डॉ ओपी वास्कले डॉ सोनम यादव, डॉ अवनि पंत और डॉ नीरज शामिल हैं। इसी तरह ऊर्जा विभाग में जूनियर इंजीनियर श्री राम सिंह यादव, असिस्टेंट इंजीनियर श्री अभिषेक तिवारी, सहायक पशु क्षेत्र अधिकारी सुश्री दीपिका सिंगार और कृषि विभाग में अनुविभागीय कृषि अधिकारी श्री जितेंद्र को मंच पर नियुक्ति पत्र प्रदान किए गए।

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हाल ही में हमीदिया चिकित्सालय परिसर में हुई चिकित्सक पंचायत में चिकित्सकों के वेतनमान के संबंध में कल्याणकारी निर्णय लिया। चिकित्सक, प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के लिए सजग होकर सेवाएं दे रहे हैं। पशुपालन एवं डेयरी विकास मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य कर रहे हैं। वे बधाई के पात्र हैं।

प्रदेश में तीन वर्ष में 2500 चिकित्सकों की नियुक्ति

प्रारंभ में अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग श्री मोहम्मद सुलेमान ने कहा की गत 3 वर्ष में लगभग 2500 चिकित्सक मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग के माध्यम से नियुक्त किए गए हैं। प्रदेश में चिकित्सकों के नियमित पद 8900 हैं।इस समय लगभग 90% पदों की पूर्ति नियमित रूप से और बॉन्ड आदि के माध्यम से की जा चुकी है। प्रदेश में 925 नए चिकित्सक नियुक्त होने से, “सबके लिए स्वास्थ्य” के मिशन को पूरा करने में सहयोग मिलेगा। कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव कृषि श्री अशोक वर्णवाल, प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री संजय दुबे श्री गुलशन बामरा उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े ने किया।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button