Madhya PradeshState
Trending

मुख्यमंत्री श्री चौहान डॉ भीमराव अम्बेडकर के जन्म के स्मारक के लिए 3.5 एकड़ भूमि का एक बड़ा दान

भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर, इंदौर जिले के डॉ अम्बेडकर नगर महू में स्थित, राज्य सरकार ने बाबा साहेब के जन्म के उपलक्ष्य में साढ़े तीन एकड़ भूमि दान की। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल श्री मंगूभाई पटेल की उपस्थिति में जन्म स्मारक मेमोरियल सोसायटी को भूमि आवंटन पत्र सौंपा. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया कि केन्द्र सरकार द्वारा इस देश के खिलाफ कोई आपत्ति नहीं उठायी गयी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस पावन अवसर पर बाबा साहेब के जीवन से जुड़े पंच तीर्थों को भी मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में शामिल किया गया है.

बाबासाहेब अम्बेडकर के जीवन से सीख लें युवा : राज्यपाल श्री पटेल

राज्यपाल श्री मंगूभाई पटेल ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर की जन्मभूमि पर आकर वे स्वयं को धन्य महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बाबा साहब ने दुनिया का सबसे बड़ा संविधान बनाया। विपरीत परिस्थितियों और कई चुनौतियों के बावजूद उन्होंने बेहतर शिक्षा प्राप्त की। उन्होंने समाज को न्याय और समानता का अधिकार दिलाने के लिए महान कार्य किए। युवाओं को उनके जीवन से सीखना चाहिए और उनके बताए रास्ते पर चलना चाहिए। राज्यपाल ने राज्य के प्रथम नागरिक के रूप में जयंती समारोह में पधारे सभी नागरिकों को बधाई दी.

मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन यात्रा योजना से जुड़े पंच तीर्थ : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर एक महापुरूष हैं, उनकी जन्मभूमि पर हमारी सरकार ने भव्य स्मारक बनाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए आवंटित साढ़े तीन एकड़ भूमि के विकास के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी. मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाबा साहेब के जीवन से जुड़े पंच तीर्थ मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन यात्रा योजना से जुड़े हैं. भक्तों को अब भारत में 4 पंच तीर्थ क्रमशः जन्म-भूमि डॉ. अम्बेडकर नगर (महू), चैत्य-भूमि दादर मुंबई, डॉ. अम्बेडकर राष्ट्रीय स्मारक 26 अलीपुर रोड दिल्ली और दीक्षा-भूमि नागपुर की मुफ्त ट्रेन यात्रा मिलेगी। साथ ही लंदन स्थित पंच तीर्थों में से एक डॉ. अंबेडकर स्मारक पर जाने वाले यात्रियों को राज्य में अनुदान देने की व्यवस्था की जाएगी. मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाबा साहेब की जयंती पर प्रतिवर्ष महाकुंभ आयोजित करने का निर्णय 2007 में लिया गया था, जो अब भी जारी है.

राज्यपाल श्री पटेल एवं मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन्म स्मारक पर पहुंचकर बाबासाहेब अम्बेडकर के जीवन, व्यक्तित्व एवं कार्य से संबंधित चित्रों का अवलोकन कर स्मारक परिसर में नवनिर्मित तथागत बुद्ध की भव्य एवं आकर्षक प्रतिमा का अनावरण किया. राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने डॉ. अंबेडकर जन्मभूमि स्मारक सोसायटी के सदस्यों के साथ मध्याह्न भोजन भी किया।

समारोह में, राज्य सरकार ने सभी भक्तों को अतिथि के रूप में होस्ट किया। श्रद्धालुओं के लिए पेयजल, आवास एवं भोजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी। जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, सांसद सुश्री कविता पाटीदार और श्री छतर सिंह दरबार, अध्यक्ष इंदौर विकास प्राधिकरण श्री जयपाल सिंह चावड़ा, अध्यक्ष अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम श्री सावन सोनकर, जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री रीना मालवीय, पूर्व विधायक श्री राजेश सोनकर, डॉ. बर्थ मेमोरियल सोसायटी के अध्यक्ष भंते सुमेध बोधी, सचिव श्री राजेश वानखेड़े सहित जनप्रतिनिधि व बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे.

आदरणीय बहनों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और आभार व्यक्त किया

डॉ. अंबेडकर नगर (महू) पहुंचने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का जगह-जगह जोरदार स्वागत किया गया। बहनों ने मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के दान के लिए आभार व्यक्त करते हुए शाल, श्रीफल और साफा पहनाकर उनकी शोभा बढ़ाई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना एक सामाजिक क्रांति है। यह कार्यक्रम महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक कल्याण में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्थान के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। लड़कियों और महिलाओं को अन्याय और अत्याचार के खिलाफ सशक्त बनाने के लिए लाडली बहना सेना का भी गठन किया जा रहा है। हमारा उद्देश्य हर महिला और लड़की की गरिमा और स्वाभिमान की रक्षा करना है। सांसद कविता पाटीदार व पूर्व विधायक डॉ. राजेश सोनकर।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button