Madhya Pradesh
Trending

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक प्राप्त खिलाड़ियों को चेक प्रदान कर किया सम्मानित….

10 / 100

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में खेलों के प्रोत्साहन के लिए पैसों की कमी नहीं होगी। हम खेलों के बजट को एक हजार करोड़ तक बढ़ाऐंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विक्रम पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रत्येक खिलाड़ी को शासकीय सेवा में रखा जाएगा। प्रदेश में ब्रेक डांस, मलखम और ई गैम्स की अकादमी स्थापित होगी। खेलों के लिए संसाधनों को बढ़ाने के उद्देश्य से प्रदेश में र्स्पोट्स डवेलप्मेंट कॉर्पोरेशन गठित किया जाएगा, जिसकी अध्यक्ष खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया होंगी। प्रदेश के नए स्टेडियम और पहले से बने स्टेडियमों के संधारण के लिए नई नीति बनाई जाएगी।

मुख्यमंत्री श्रीहान ने खेलो एमपी यूथ गेम्स के शुभारंभ की घोषणा की। भोपाल के तात्या टोपे स्टेडियम में खेलों में उत्कृष्टता की प्रतीक गेम्स ट्राफी का अनावरण कर तथा प्रतिष्ठित खिलाड़ियों से खेलों की मशाल प्राप्त कर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं का शुभारंभ किया। उल्लेखनीय है मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 23 मार्च 2023 को हुई युवा महापंचायत में खेलो एमपी यूथ गेम्स आयोजित करने की घोषणा की थी। कार्यक्रम में खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया उपस्थित थी। केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री श्री अनुराग ठाकुर कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े।

 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक प्राप्त खिलाड़ियों को चेक प्रदान कर सम्मानित किया

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को चेक प्रदान कर सम्मानित किया। एशियाड में कमाल दिखा रहे भोपाल शुटिंग अकादमी के निशानेबाज श्री एश्वर्य प्रताप सिंह को 2 करोड़ 75 लाख रुपए और निशानेबाज आशी चौकसे को एक करोड़ 25 लाख का चेक प्रदान किया गया। दोनों खिलाड़ियों के माता-पिता ने चेक प्राप्त किया। महिला क्रिकेट में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम की सदस्य पूजा वस्त्राकर को एक करोड़ रूपए, सेलिंग की खिलाड़ी नेहा ठाकुर को 50 लाख रुपए और शूटिंग की खिलाड़ी मनीषा कीर को 50 लाख रुपए का चेक प्रदान किया गया। नेहा और मनीषा के माता-पिता ने चेक प्राप्त किया।

खेलेंगे हम- जीतेगा एमपी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि चीन में चल रहे एशियाई गेम्स में मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों ने बड़ी संख्या में पदक जीतकर प्रदेश को गोरवान्वित किया है। बेटियां, बेटों से पदक जीतने में आगे निकल गई हैं। एक जमाना था जब मध्यप्रदेश खेल में पिछड़ा था, आज मध्यप्रदेश खेल रहा है और देश देख रहा है। हम सम्पूर्ण प्रदेश में खेल संस्कृति को विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। प्रदेश में खेलों के प्रति सकारात्मक वातावरण बनाने के उद्देश्य से ग्राम स्तर के साथ-साथ विकास खण्ड, जिला, संभाग सहित राज्य स्तर पर खेल प्रतियोगिताएं हो रही हैं। खेलो एमपी यूथ गेम्स का आयोजन इसी दिशा में एक कदम है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ” खेलेंगे हम- जीतेगा एमपी” के संदेश से खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में खेल के प्रति सकारात्मक वातावरण विकसित करने और खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए प्रेरित करने में खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। विभाग ने उनके नेतृत्व में महत्वपूर्ण उपलब्धियां अर्जित की हैं और खेल गतिविधियों को पर्याप्त विस्तार भी हुआ है।

माता-पिता बच्चों को खेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें- मंत्री श्रीमती सिंधिया

खेल एंव युवा कल्याण मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के मार्गदर्शन में प्रदेश में खेल संस्कृति को प्रोत्साहित करने और खेल वातावरण निर्मित करने में महत्वपूर्ण उपलब्धियां प्राप्त हुई हैं। उन्होंने प्रदेश की 18 खेल अकादमियों के खिलाड़ियों की ओर से मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार माना। मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि अन्य राज्य किसी एक खेल विशेष में उपलब्धियां प्राप्त कर रहे हैं जबकि मध्यप्रदेश ने दस विधाओं में सफलता अर्जित की है। श्रीमती सिंधिया ने माता-पिता से अपने बच्चों को खेल को एक केरियर के रूप में लेने के लिए प्रोत्साहित करने का आव्हान किया।

केन्द्रीय मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने अपने वर्चुअल संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी की सोच के अनुरूप युवाओं में खेलों में भागीदारी बढ़ रही है। कभी बीमारू कहा जाने वाला मध्यप्रदेश, आज मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में उपलब्धियां अर्जित कर रहा है। प्रदेश के सभी जिलों में खेल अधोसंरचना के उन्नयन पर ध्यान दिया जा रहा है। खेलों के क्षेत्र में मध्यप्रदेश नई राह पर अग्रसर है। हमारी सरकार ने देश की श्रेष्ठतम खेल सुविधाएं मध्यप्रदेश में उपलब्ध कराईं हैं।

प्रदेश के 1 लाख से अधिक युवा इन खेलों में भाग लेंगे

कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर दो लघु फिल्में प्रदर्शित की गईं। स्टेडियम के मुख्य ग्राउंड पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए। उल्लेखनीय है कि राज्य स्तरीय खेलो एमपी-2023 की प्रतियोगिताएँ 5 अक्टूबर तक भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर, उज्जैन, जबलपुर, कटनी और शिवपुरी में होंगी। भोपाल में व्हालीबाल, फुटबाल, कुश्ती, बॉक्सिंग, फेंसिंग, जूड़ो, ताईक्वाडो, टेनिस, क्याकिंग- कैनोइंग, रोइंग और तैराकी की प्रतियोगिताएँ खेली जाएगी। रीवा में कबड्डी, इंदौर में वेटलिफ्टिंग, बास्केटबाल और टेबल टेनिस, ग्वालियर में हॉकी, बैडमिंटन, उज्जैन में मलखंब और योगासन, जबलपुर में खो-खो और आर्चरी, कटनी में शतरंज तथा शिवपुरी में शूटिंग और एथलेटिक्स के मुकाबले होंगे। प्रदेश के एक लाख से ज्यादा युवा इन प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे।

jeet

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button